Skip to content
February 18, 2013 / Nikhil Jain

My Last Poem at my School…


As my School Days are over so, this is my last poem that I recited at my School’s send-off party-


दोस्तों, आज का दिन मेरे लिए बहुत ही special है, इसलिए नहीं कि आज मैं late नहीं आया बल्कि इसलिए भी कि मैं आज आप सबको आखिरी बार देख रहा हूँ ।
चलिए, समय का ध्यान रखते हुए मैं अपनी कविता आप सबके सामने प्रस्तुत करता हूँ।

अनिल सर हमारे प्रिय शिक्षक हैं तो शुरूआत भी उन से ही करते हैं-

‘अनिल सर का वो हमें प्रेम से कुत्ता कहना
और हमारा वो इधर-उधर बहराता फिरना
Sister Arpita की वो advice- speak less,listen more
और teachers के संग बंधी वो प्रेम की डोर

हमारा वो एक साथ खाना खाना
और एक-दूसरे का दिल बहलाना
Mr. Shabaz का वो fantastic नृत्य
और महाराज के किए वो अच्छे कृत
इस दिन के जश्न की खडी़ नीचे ट्राली है
बीती हर वो बात निराली है

हमारा वो class में एक साथ गाना  गाना
और फिर आज मिलकर बिछड़ जाना
J.P के silencer की वो सुरीली आवाज़
एसी class पर हो किसको ना  नाज़
बिछड़ने के आँसुओं से बाढ़ आज आने वाली है,
बीती हर वो बात निराली है।’

अगर मैं आज आप सबकी  बुराई करता हूँ तो मुझे नहीं लगता कि मैं आज जिंन्दा घर लौट पाऊँगा। तो कुछ पंक्तियाँ मैं अपने लिए भी आज सुना देता हूँ।

‘मेरा वो हर दिन late आना
और assembly को रोज़ wait कराना
सुबह-२ father के भी दर्शन होना
क्योंकि मेरा late person होना
गुज़री यादों पर बजनी ही ताली है
बीती हर वो बात निराली है।’

मैं आशा करता हूँ कि Principal Sister इस प्रोग्राम की सफलता पर हम सबकी फीस माफ कर देंगी।
       जाते-२ यह कामना करता हूँ कि हमारे सारे teachers  फलें-फूलें और यह भी आशा करता हूँ कि Father-Sister आप जहाँ भी हों हमें याद रखेंगे।
                और अपने दोस्तों के लिए एक अन्मोल सन्देश…

‘अन्मोल है ये दोस्ती हमारी
लगा सकता नहीं कोई इसका दाम
और तुम सबको भूल जाना,यारों !
हमारे बस का नहीं है काम…’

Thank you everybody and miss you all…

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: